Spread the love
  • 9
    Shares
लखनऊ। लखनऊ के जाने-माने मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि अयोध्या मामले के फैसले के बाद मथुरा ईदगाह मसले को उठाया जाना अफसोस जनक है। कानूनी रूप से भी यह मामला ठीक नहीं है।
 धर्मगुरु मौलाना फिरंगी महली ने कहा कि मथुरा ईदगाह जैसे मामलों को उठाकर माहौल को अशांत करने की कोशिश ही होगी। कानूनी पहलू की बात की जाए तो संसद ने प्लेसेस एवं वरशिप एक्ट 1991 के तहत अयोध्या के अलावा अन्य धार्मिक स्थलों को जो 15 अगस्त 1947 में जिस तरह से थे, उसी तरह रहने के लिए आदेशित किया गया है। 
 उन्होंने कहा कि इस तरह के मामलों को कानूनी हैसियत नहीं दी जानी चाहिए और पूरी तरह से समाप्त किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here