previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar आदापुर के कोरैया पंचायत में नलजल में कथित घोटाले की जाँच शुरू,...

आदापुर के कोरैया पंचायत में नलजल में कथित घोटाले की जाँच शुरू, बीडीओ पर मुखिया के संरक्षण का आरोप

Spread the love

सागर सूरज

मोतिहारी। भारत-नेपाल सीमा से सटे आदापुर प्रखंड के कोरैया पंचायत में अधिकारियों की मिलीभगत से हुए कथित नलजल घोटाले में जिला प्रशासन ने संज्ञान लेते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी को जाँच कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

जिला उपविकास आयुक्त कमलेश कुमार सिंह ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को सख्त आदेश देते हुये कहा कि कोरैया पंचायत के नलजल मामले में जाँच कर कार्रवाई करे उन्होंने कहा कि अगर वे कार्रवाई नहीं करेंगे तो अगले मंगलवार के बाद जिला खुद कार्रवाई करने को बाध्य होगी।

सनद रहे कि उक्त पंचायत के 14 वार्ड में सिर्फ 11 नंबर वार्ड में ही नलजल का पानी चालू है, बाकि सभी वार्ड में इधर-उधर बेतरतीब ठंग से फेंका हुआ पाइप तो दिखता है, परन्तु कही भी पानी सप्लाई नहीं है, जबकि विधान सभा चुनाव पूर्व ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिले में इस महत्वकांक्षी योजना का विधिवत उद्घाटन भी कर दिया था।

पूर्व में प्रखंड विकास पदाधिकारी ने अनुमंडलीय लोक शिकायत पदाधिकारी के समक्ष खुद ही स्वीकार किया की 14 में 10 वार्ड में पानी चालु है वावजूद इसके अब तक बाकियों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी है।

 पंचायतवासियों ने जिला पदाधिकारी को दिए अपने आवेदन में आरोप लगाया कि प्रखंड विकाश पदाधिकारी, मुखिया और वार्ड सदस्य मिलकर इस योजना के सारे रुपयों का गबन कर लिया है, खुद कई वार्ड सदस्य ने भी ग्रामीणों को बताया कि मुखिया और प्रखंड के कर्मियों को कमीशन देने के बाद उनके पास फण्ड ही नहीं बचा है की वे आगे का कार्य करवाए।

previous arrow
next arrow
Slider

‘बॉर्डर न्यूज़ मिरर’ की एक टीम ने जब पंचायत में विजिट किया तो वहां ग्रामीणों का आक्रोश देखने को मिला, टंकी और टावर खड़े तो कर दिए गए है, परन्तु उनकी हालत ऐसी हो चली है की कही पानी शुरू होने से पूर्व ही सभी टावर जमीदोज़ न हो जाये, वही सडकों के ऊपर-ऊपर विछाये गए पाइप बच्चों को खेलने का सामान बना हुआ है।

नल भी बेतरतीब ठंग से लगाये गए है, जो बीएनएम चैनेल के विडियो में स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है।  

पंचायतवासियों में श्रीकांत यादव, उमेश कुमार संदीप कुमार, जीतेन्द्र कुमार, भुनेश्वर कुमार, संतोष कुमार और गौरीशंकर राय आदि लोगों ने आरोप लगाया की स्थानीय मुखिया और बीडीओ की मिलीभगत से इंदिरा आवास योजना में भी बड़े पैमाने पर अनियमितता बरती गयी है।

प्रखंड विकास पदाधिकारी आशीष कुमार मिश्रा ने कहा कि दो-तीन वार्ड में जमीन की कमी से नलजल का कार्य देरी से शुरू की गयी थी, जिसके कारण कार्य में देरी हो रही है।

इधर जिला पदाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने कहा की जल नल योजना में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बक्शे जायेंगे, लापरवाही एवं अनियमिता में शामिल सभी लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

previous arrow
next arrow
Slider

Most Popular

आप वाहन लेकर वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना में नहीं जा सकेंगे

बगहा। वाल्मीकिनगर के वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना (VTR)  के वन क्षेत्र में निजी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। साथ ही मंदिर...

सजायाफ्ता कैदी की इलाज दौरान हुई मौत

बेतिया। जिले के  मंडल कारा (JAIL) के एक सजायाफ्ता कैदी की सोमवार को इलाज के दौरान मौत (DEATH) हो गई। वह दुष्कर्म के एक...

एसबीआई बैंक का स्टाफ कोरोना पॉजिटिव

बेतिया। बेतिया (BETTIAH) से दस किलो मीटर दूर नौतन एसबीआई (SBI) के एकाउन्टेन्ट नौलेश कुमार के पोजिटिव रिपोर्ट सोमवार को आने के बाद बैक...

बेतिया के जीएमसीएच में युवती की मौत पर हंगामा

बेतिया। गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल (GMCH) के फिमेल मेडिसिन वार्ड में शिवानी कुमारी (16) की मौत सोमवार की सुबह हो गयी। परिजनों ने चिकित्सक...

Covid-19 Update

India
1,264,544
Total active cases
Updated on April 13, 2021 12:42 am