previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home National कानपुर एनकाउंटर : मुठभेड़ में ​हत्यारे की मौत के बाद सवाल उठाना...

कानपुर एनकाउंटर : मुठभेड़ में ​हत्यारे की मौत के बाद सवाल उठाना पुलिस के मनोबल को तोड़ने जैसा

Spread the love
लखनऊ। उज्जैन से कानपुर लाते समय पांच लाख रुपये के इनामी विकास दुबे को मुठभेड़ में मारे जाने के बाद अब इसको लेकर राजनीति शुरू हो गयी। विपक्ष ने इस एनकाउंटर को सुनियोजित तरीके से बताते हुए पुलिस कर्मियों की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाया और सरकार को घेरने की कोशिश की है। इस पर शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारोंं का कहना है कि सरकार को घेरना और पुलिसिया कार्रवाई पर प्रश्नचिन्ह लगाना उनके मनोबल को तोड़ने जैसा हैं।

सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतारने वाले दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को उज्जैन पुलिस ने गुुरुवार को महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया था और देर शाम कोर्ट में पेशी के बाद ट्रांजिट रिमांड पर यूपी एसटीएफ को सौंप दिया था।पुलिसिया कहानी के अनुसार जब उसे लेकर यूपी एसटीएफ कानपुर आ रही थी तभी बारिश की वजह से तेज रफ्तार कार पलट गयी। इस दौरान एसटीएफ और पुलिस को चकमा देकर विकास दुबे भागने लगा। यूपी एसटीएफ ने उसे रोकने का प्रयास किया तो उसने फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें चार पुलिस कर्मी घायल हुये हैं। एसटीएफ की कार्रवाई में विकास घायल हुआ, जिसे हैलट अस्पताल के डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। विकास को चार गोली लगने की बात कही जा रही है। पुलिस कार्रवाई पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि कार पलटी नहीं है सरकार पलटने से बचायी गयी है। प्रदेश सरकार को घेरने के साथ अन्य दलों के लोगों ने भी पुलिस की इस कार्रवाई को लेकर सीबीआई जांच की मांग की है।
कानपुर के बिठूर थाने में तैनात और विकरु कांड में घायल बुलंदशहर निवासी सिपाही अजय कश्यप ने विकास दुबे के एनकाउंटर पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का एनकाउंटर शहीद पुलिसकर्मियों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि है। इस एनकाउंटर से पुलिस का इकबाल बुलंद हुआ है। इससे पुलिस पर आम नागरिक का विश्वास मजबूत होगा।
कानपुर में शहीद सिपाही सुल्तान सिंह की झांसी भोजला गांव में रहने वाली पत्नी ने कहा ​है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जो वायदा किया था वो कर दिखाया है। उन्होंने यूपी पुलिस और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद दिया है। साथ यह भी कहा है कि इस पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिये। ऐसे हत्यारों का तो यही अंजाम होना चाहिये था।
दुर्दांत अपराधी विकास दुबे की मौत के बाद शहीद सिपाही राहुल की बहन नंदिनी ने कहा है कि आज उनके भाई की आत्मा को शांति मिली होगी। आज (शुक्रवार) भाई का शांति हवन है। इस एनकाउंटर से वो उनके ​परिवार के अलावा पूरा गांव खुश है और पुलिस, सरकार की प्रशंसा कर रहा है। व
जो लोग पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह उठाकर सरकार को घेरना चाहते हैंं, मेरा उनसे कहना है कि इस मामले में कोई राजनीति न की जाये। वो आठ पुलिस कर्मियों का हत्यारा है, जिसमें उनका एक भाई भी शामिल हैं। उसने कई हत्याएं की हैंं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

18 माह की बच्ची के दुष्कर्मी को आजीवन कारावास की सजा, निर्भया फंड से मिलेगी मदद

बेगूसराय। दुष्कर्म मामले के एक आरोपी को बेगूसराय न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। न्यायालय ने दो साल तक मामले पर विचारने...

सिविल सर्जन ने सूर्या हॉस्पिटल में कोविड वेक्सिनेशन सेंटर का किया शुभारंभ

सहरसा। शहर के गांधी पथ स्थित सूर्या हॉस्पिटल में सोमवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन सेन्टर का शुभारंभ किया गया। जिसका उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ अवधेश...

बॉडी बिल्डिंग में क्षितिज ने किया पूर्णिया का नाम रोशन

पूर्णिया। पूर्णिया के लाल क्षितिज कुमार ने बिहारशरीफ के आई.एम.ए.हॉल में एनबीबीएफ द्वारा आयोजित सीनियर मिस्टर बिहार बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगता में बिहार में टॉप-5 में...

19 लाख रोजगार मांग रहा युवा बिहार: राजू मिश्रा

दरभंगा। ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन (एआईवाईएफ) दरभंगा जिला परिषद् द्वारा सोमवार को राज्यव्यापी आवाह्न पर विभिन्न मांगों को लेकर जिला समाहरणालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन...

Recent Comments