previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home National ग्रामीणों ने नक्सलियों के दबाव में छह सूत्रीय मांग का ज्ञापन सौपा

ग्रामीणों ने नक्सलियों के दबाव में छह सूत्रीय मांग का ज्ञापन सौपा

Spread the love
बीजापुर।  जिले में नक्सलियों की मंशानुरूप बुधवार को गंगालूर में आठ पंचायतों के सैकड़ों ग्रामीण पुल-पुलिया और पुसनार में प्रस्तावित नए कैंप के विरूध्द कोरोना संक्रमण आपातकाल में प्रभावशील धारा144 को दरकिनार कर गंगालूर तक रैली निकालकर बीजापुर तहसीलदार को छह सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया है।बस्तर के धुर नक्सल प्रभावित ईलाकों में पुल-पुलिया और प्रस्तावित नए कैंप के विरोध के पीछे नक्सलियों का ग्रमीणों पर दबाव  अक्सर देखा जाता है।अन्यथा सड़क और पुल-पुलिया नही बनााने तथा अन्य नक्सलियों की तमाम वही मांगे, जिसे वे  अपनी जारी विज्ञप्ति में उल्लेखित करते रहे, की मांग केलिए रैली निकलना नक्सलियों के दबाव को स्पष्ट परिलक्षित करता है। इस विरोध के बाद भी बस्तर के धुर नक्सल प्रभावित इलाकों में सड़क,पुल-पुलिया और कैंप बनते रहे हैं, जिसका ग्रामीण समर्थन भी करते हैं।मौत के भय से नक्सलियों की गुलामी की मजबूरी वश हो रहे विरोध को शासन-प्रशासन भी भली-भांति समझती है। 
 पुसनार में पुलिस कैम्प की स्थापना के प्रस्तावित होने के साथ गंगालूर से पुसनार तक सड़क निर्माण प्रस्तावित है। यहां निर्माणाधीन सड़क को लेकर बुधवार को आठ पंचायतों केसैकड़ों ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया। ग्राम पंचायत बुरजी के सरपंचरमेश पुनेम, गंगालूर के सरपंच राजू कलमू, गोंगला के जनपद सदस्य सोनू पोटामऔर संतोष हेमला के नेतृत्व में पुसनार, गोंगला, बुरजी, मेटापाल, गंगालूर,पीडिय़ा, डोडीतुमनार और गमपुर के ग्रामीण अपनी मांगों को लेकर गंगालूर पहुंचे थे। ग्रामीण रैली की शक्ल में गंगालूर पहुंचकर अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा, इसके साथ ही एक सप्ताह का अल्टीमेटम देते कहा गया है कि अगर उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो वृहद आंदोलन जिला मुख्यालय में किया जाएगा।
ग्रामीणों ने सरकार से मांग की है कि इलाके में पुलिस कैंप सीसी रोड का निर्माण बंद हो, आदिवासियों के साथ मारपीट और अत्याचार की घटनाओं पर विराम लगाया जाए, फोर्स द्वारा सैकड़ों निर्दोष लोगों को नक्सल के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है जिन्हें तत्काल रिहा कराया जाए। फर्जी मुठभेड़ों में लोगों की हत्या बंद की जाए। बीज पंडुम,शादी समारोह, तेंदूपत्ता-महुआ सीजन के समय मारपीट की घटनाओं पर विराम लगाया जाए। इनके अलावा अन्य मांगें ज्ञापन में की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अरुण कुमार सिंह बने बिहार के मुख्य सचिव

पटना। बिहार के नए मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह होंगे। इस बाबत रविवार को सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई। जारी आदेश...

480 किलोग्राम गांजा सहित दो तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे

पूर्णिया। शराब और गांजा तस्कर आजकल तस्करी के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। बायसी थाना पुलिस ने रविवार को बायसी के दालकोला चेक पोस्ट पर...

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में हो रहा बिहार का सर्वांगीण विकास: संजय

मधुबनी| जिला मुख्यालय स्थित नगर परिषद विवाह भवन में रविवार को राज्य के दो मंत्रियों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया| जल संसाधन मंत्री...

वन एवं पर्यावरण मंत्री का भव्य नागरिक अभिनंदन

सहरसा। बिहार सरकार के जलवायु परिवर्तन पर्यावरण वन विभाग मंत्री नीरज कुमार सिंह बबलू का नागरिक अभिनंदन समारोह रविवार को भाजपा द्वारा सुपर मार्केट...

Recent Comments