previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar जलवायु परिवर्तन अनुकूल और निम्न कार्बन उत्सर्जक विकास की राह अपनाएगा बिहार:...

जलवायु परिवर्तन अनुकूल और निम्न कार्बन उत्सर्जक विकास की राह अपनाएगा बिहार: तारकिशोर प्रसाद

Spread the love

नई दिल्ली/पटना। बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) के समर्थन से जलवायु परिवर्तन के अनुकूल और निम्न कार्बन उत्सर्जक विकास की रणनीति बनाने को बिहार तत्पर है।इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए डिप्टी सीएम ने आज यूएनईपी भारत के साथ राष्ट्रीय राजधानी में आयोजित कार्यक्रम में सहमति ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया।

previous arrow
next arrow
Slider

इस मौके पर अपने सम्बोधन में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि बिहार तेजी से बढ़ता हुआ राज्य है और जलवायु परिवर्तन अनुकूल कम कार्बन उत्सर्जक होने के मार्ग पर चल कर टिकाऊ पर्यावरण के लिए संकल्पबद्ध है। उन्होंने कहा कि औसतन दस प्रतिशत से अधिक वृद्धि के साथ वर्ष 2019-20 से पहले के तीन वर्ष में बिहार की आर्थिक वृद्धि दर राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की तुलना में ऊंची रही है। प्रदेश की आर्थिक वृद्धि के लिए टिकाउ विकास की रणनीति अपनाना बेहद आवश्यक है।

तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि बिहार राज्य प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड ने जलवायु परिवर्तन अनुकूल और निम्न कार्बन उत्सर्जक विकास की रणनीति बनाने के लिए यूएनईपी के साथ सहयोग का निर्णय लिया है। इससे राज्य सरकार के हरित प्रयासों को बल मिलेगा।

उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने के उपायों को स्थानीय स्तर पर अपनाने और उसका असर कम करने के राष्ट्रीय प्रयासों में राज्य सरकारों की भूमिका प्रमुख है। हमने यूएनईपी के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर कर अनूठी पहल की है। बिहार एक बार फिर अग्रणी भूमिका निभा रहा है। जो दूसरे राज्यों के लिए नजीर है।

इस अवसर पर बिहार सरकार के पर्यावरण वन एंव जलवायु परिवर्तन मंत्री नीरज सिंह बबलू ने कहा कि सतत जीवन शैली भारत की परम्परा में रची बसी है। व्यवहार परिवर्तन से बदलाव का लम्बा रास्ता तय होगा। इसके लिए सचेत कदमों और तकनीक के इस्तेमाल से कम लागत वाले विकल्पों को बड़े पैमाने पर उपलब्ध कराने की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को संतुलित करने के लिए कई देशों ने इस शताब्दी के मध्य तक शून्य उत्सर्जन लक्ष्य हासिल करने का संकल्प लिया है। 2021 के प्रारंभ तक 126 देशों ने शून्य उत्सर्जन लक्ष्यों का औपचारिक अनुमोदन किया है। घोषणा की है या उसपर विचार कर रहे हैं। दुनिया में ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन का 51 प्रतिशथ इन देशों से होता है।

कार्यक्रम के दौरान बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष  ऐके घोष, अतुल बगई, सहित बिहार सरकार के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग एवं संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम के अधिकारीगण, तकनिकी विशेषज्ञ उपस्थित थे।

previous arrow
next arrow
Slider

Most Popular

शराब माफियाओं ने किया पुलिस पर हमला, महिला की मौत से ग्रामीण आक्रोशित

सागर सूरज/ जितेश मोतिहारी/कोटवा। कोटवा थाना (Kotwa Police Station) क्षेत्र के एक गाँव में शराब को लेकर प्राप्त सूचना के बाद छापेमारी (Raid) करने गयी...

कोरोना जैसी महामारी के बीच राजनीति नहीं होनी चाहिए: उपेन्द्र कुशवाहा

पटना। बिहार विधानपरिषद सदस्य और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने संजय जयसवाल के बयान पर बुधवार को पलटवार करते हुए कहा कि कोरोना...

‘मैं कटिहार हूं’ के सातवें एपिसोड को उप मुख्यमंत्री ने किया रिलीज

पटना/कटिहार। बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद (DUPY CM TARKISHOR PRASAD) ने कटिहार (KATIHAR) दौरे के दूसरे दिन एक कार्यक्रम में जिले के धार्मिक,...

एसडीएम ने एनएच पर दुकान लगानेवालों का दुकान स्थान्तरित कराया

बगहा। बगहा नगर परिषद स्थित राष्ट्रीय पथ-727 पर ठेला या फुटपाथ पर दुकान लगाकर फल और सब्जी आदि बेचने वाले दुकानदारों को बगहा (BAGAHA)...

Covid-19 Update

India
2,236,207
Total active cases
Updated on April 21, 2021 9:18 pm