previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home National तेलंगाना में कुएं से नौ प्रवासी श्रमिकों के शव मिले, छह एक...

तेलंगाना में कुएं से नौ प्रवासी श्रमिकों के शव मिले, छह एक ही परिवार के

Spread the love

वरंगल। वरंगल जिले में गीसुगोंडा मंडल के गोर्टेकुंटा इंडस्ट्रियल एरिया में एक कुएं से नौ शव मिले हैं। मृतकों की पहचान कर ली गयी है और यह सभी प्रवासी मजदूर पश्चिम बंगाल और बिहार के हैं। मृतकों में एक ही परिवार के छह लोग हैं। इनमें दो महिलाएं और एक तीन साल का बच्चा भी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है लेकिन मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गये हैं।पुलिस हत्या और आत्महत्या दोनों एंगल से जांच कर रही है। जिले के गोर्टेकुंटा इंडस्ट्रियल एरिया में एक टाट की बोरी के गोदाम में कुछ प्रवासी मजदूर रहते थे। इनमें मकसूद अपने दो बेटों और विवाहिता पुत्री व पत्नी के साथ रहता था। पुत्री के तीन साल का एक बेटा भी था। इसके अलावा कुछ और प्रवासी मजदूर भी रहते थे। गुरुवार की दोपहर जब गोदाम का मालिक वहां पहुंचा तो यह लोग गायब मिले। गोदाम मालिक ने पुलिस को इन सभी के गुमशुदा होने की जानकारी दी। पुलिस ने कल शाम मौके पर पहुंच कर निरीक्षण किया। इसी दौरान पुलिस ने कुएं में शव देखे। कल शाम को पुलिस ने कुएं से चार लोगों के शव निकाले। शुक्रवार को पुलिस ने फिर कुएं में तलाशी अभियान चलाया तो आज पांच शव और निकले। पुलिस के मुताबिक 9 मृतकों में छह एक ही परिवार के हैं। इनकी पहचान मकसूद (50), उसकी पत्नी निशा (45), बेटी बुशरा (20) बुशरा का बेटा (3), मकसूद के दो बेटे शाहबाद (22) सोहेल (20) के रूप में की गई। यह सभी पश्चिम बंगाल के हैं। इसके अलावा तीन शवों की पहचान श्रीराम (20), श्याम (22) और शकील (21) के रूप में हुई है। यह तीनों बिहार के बताये जा रहे हैं। यह तीनों अभी कुछ माह पूर्व ही यहां काम करने पहुंचे थे। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी एमजीएम अस्पताल भेज दिया गया। पुलिस अभी और शव होने की आशंका के चलते कुएं में पंप लगाकर पानी निकाल रही है और मौके पर डॉग स्क्वायड भी बुलाया है। कुएं से नौ लोगों के शव मिलने की सूचना पर वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर पहुंच गये और लोगों से पूछताछ की। इसी बीच वरंगल के पुलिस आयुक्त मौके पर पहुंचे और घटना के कारणों को जानने की कोशिश की। पुलिस आयुक्त रविंद्र ने बताया कि पुलिस ने अभी संदेहास्पद परिस्थियों में मौत का मामला दर्ज कर लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के पश्चात ही पता चलेगा कि इनकी मौत खुदकुशी से हुई है या इनकी हत्या की गयी है। पुलिस ने बताया कि मकसूद 20 साल पहले पश्चिम बंगाल से वरंगल अपने परिवार समेत आया था और यहां के टाट की बोरियों के एक गोदाम में काम करता था। मालिक ने गोदाम में रहने के लिये दो कमरे दिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आग से झुलस कर बच्चे की मौत

बेतिया। जिले में  शिकारपुर थाना क्षेत्र के दहड़वा टोला गांव में बीती रात्रि में शॉर्ट सर्किट से आग लगने से एक बच्चे की झुलस...

जदयू कार्यकर्ता बैठक व अभिनन्दन समारोह में पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष

मोतिहारी। जदयू कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को बिहार प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा को पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पुष्प गुच्छ व फूल माला पहनाकर भव्य...

बजट सत्र: डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने 15 साल बनाम 15 साल पर तेजस्वी को आंकड़ों के साथ दिया जबाव

पटना। उपमुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा है कि बिहार नीतीश के नेतृत्व में चौतरफा विकास कर रहा है। हमने नई ऊंचाईयां...

मास्क की अनिवार्यता, दो गज की दूरी सहित अन्य कोविड-19 प्रोटोकाॅल का सख्ती के साथ अनुपालन का निर्देश

बेतिया। जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम/नियंत्रण के लिए जारी गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी अद्यतन दिशा-निर्देश तथा स्वास्थ्य एवं...

Recent Comments