previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Delhi निशंक ने मनोदर्पण वेब पेज और हेल्पलाइन नंबर किया लॉन्च

निशंक ने मनोदर्पण वेब पेज और हेल्पलाइन नंबर किया लॉन्च

Spread the love

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये कोरोना संकट काल के दौरान विद्यार्थियों, उनके परिवारों और अध्यापकों के मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक कल्याण के लिए प्रधानमंत्री ई-विद्या कार्यक्रम के तहत शुरू की गई ‘मनोदर्पण’ वेबसाइट का वेब पेज और राष्ट्रीय टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर लॉन्च किया। 

 
इस वेबसाइट के माध्यम से मानव संसाधन विकास मंत्रालय विद्यार्थियों, अभिभावकों और शिक्षकों के मानसिक स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए परामर्श और कल्याण सेवाएं प्रदान करेगा। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री डॉ निशंक ने कहा, “कोविड-19 का प्रकोप वैश्विक है और सभी के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण है। इसका सबसे गहरा असर बच्चों और किशोरों में हुआ है और वे तनाव, चिंता, भय के साथ साथ भावनात्मक और व्यवहारिक बदलाव से भी गुजर रहे हैं। इसके अलावा इस महामारी अध्यापकों और अभिभावकों में भी तनाव की स्थिति पैदा हो गई है जिसकी वजह से वो बच्चों की मदद नहीं कर पा रहे हैं। इन सब पहलुओं पर ध्यान देने के बाद मंत्रालय ने तय किया कि एक तरफ जहां शिक्षा पर ध्यान देना जरूरी वहीं दूसरी तरह छात्रों एवं मानसिक स्वास्थ पर भी समान महत्त्व देना होगा। 
 
उन्होंने कहा कि ‘मनोदर्पण’ के अंतर्गत विद्यार्थियों, उनके परिवारों और अध्यापकों के लिए परामर्श दिशा-निर्देश बनाने का काम पूरा हो गया है इसके साथ ही मंत्रालय की वेबसाइट पर इसका यूआरएल भी लगा दिया गया है जहां पर एडवाइजरी, सुझाव, पोस्टर, वीडियो, मनोसामाजिक समर्थन के लिए जरूरी बातें और प्रश्न उत्तर दिए होंगे। इसके अलावा इसकी पहुंच को और व्यापक बनाने के लिए राष्ट्रीय टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर 8448440632 भी शुरू कर दी जाएगी जो कि कोविड-19 संकट काल के बाद भी चालू रहेगी।
 
 राष्ट्रीय हेल्पलाइन पर जिन राष्ट्रीय स्तर के काउंसलरों की मदद ली जा सकती है उनका डाटाबेस और डायरेक्टरी स्कूलों और विश्वविद्यालयों को उपलब्ध करवा दिया गया है। बच्चों के लिए मनोसामाजिक समर्थन पर एक हैंडबुक भी प्रकाशित गई है। छात्रों, उनके परिवारों और अध्यापकों के लिए मानसिक स्वास्थ विशेषज्ञों के परामर्श और मार्गदर्शन के लिए एक इंटरैक्टिव ऑनलाइन चैट प्लेटफार्म भी शुरू किया गया है और समय समय पर वेबिनार इत्यादि के माध्यम से भी सभी से जुड़ने के प्रयास किया जायेगा।
 
 निशंक ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 12 मई को शुरू किये गए आत्मनिर्भर भारत अभियान में मनोदर्पण को भी जोड़ दिया गया है जिससे हम हमारे देश की मानव संसाधन को मजबूत कर सकें, उसकी उत्पादकता बढ़ा सकें और शिक्षा के क्षेत्र में सुधार लाकर नई पहल कर सके।
 
इस मौके पर मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री संजय धोत्रे, उच्च शिक्षा सचिव, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता सचिव एवं मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये जुड़े थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

प्रभारी डीएम ने कौशल रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

मोतिहारी। उप विकास आयुक्त सह प्रभारी जिलाधिकारी कमलेश सिंह ने शनिवार को जीविका की ओर से संचालित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना को लोगों में...

खजूरबनी शराबकांड में मौत की सजा गड़बड करने वालों के लिए सबक : नीतीश

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गोपालगंज के खजूरबानी में जहरीली शराब पीने से 19 लोगों की हुई मौत के मामले में नौ लोगों को न्यायालय से...

अल्पसंख्यक बालक छात्रावास में 31 मार्च तक लिया जायेगा नामांकन आवेदन: रश्मि

सहरसा। जिला स्कूल कैम्पस में नवनिर्मित अल्पसंख्यक बालक छात्रावास में नामांकन हेतु 31 मार्च तक आवेदन स्वीकार किया जाएगा।उक्त बातो की जानकारी अल्पसंख्यक कल्याण...

एक दर्जन मवेशियों के साथ पांच पशु तस्कर गिरफ्तार

बेतिया। पश्चिम चंपारण जिला के चौतरवा थाना की पुलिस में पशु तस्करों के विरुद्ध छापेमारी अभियान चलाकर एक दर्जन मवेशियों के साथ पांच पशु...

Recent Comments