previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar नीतीश सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लागू होः आप

नीतीश सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लागू होः आप

Spread the love

पटना। आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज कुमार ने  नीतीश कुमार की नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार को बर्खास्त करने के साथ ही बिहार में युद्ध स्तर पर ध्वस्त स्वास्थ्य व्यवस्था को पुनः बहाल करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि महामारी के इस दौर में बिहार सरकार कोरोना संक्रमितों  को इलाज की बुनियादी सुविधाएं  भी नहीं दे पा रही है, जिसका भारत का संविधान उन्हें भरोसा दिलाता है। पिछले  तीन महीनों में जब बिहार में संक्रमण नहीं के बराबर था और दूसरे राज्य महामारी से लड़ने की तैयारी कर रहे थे, वहीं बिहार में  जदयू-भाजपा गठबन्धन की नीतीश सरकार चुनावी तैयारी कर रही थी। अगर राष्ट्रपति ने बिहार को अपने हाथ में नहीं लिया तो बिहार की निर्दोष जनता वर्तमान सरकार की लापरवाहियों का शिकार हो मारी जाएगी।

उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार के सरकारी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों को बेड की कमी बताकर भर्ती  नहीं किया जा रहा है। इसके अलावा ऑक्सीजन सिलेंडरों, वेंटिलेटरों और एंबुलेंसों की कमी की शिकायतें लगातार आ रही हैं। मरीजों से बारहर से दवाएं मंगाई जा रही।  जिला स्तर पर स्वास्थ्य सेवा नदारद है। मरीज पटना पहुंच भी नहीं पाते हैं।  करीब 14 करोड़ की आबादी वाले बिहार के संक्रमित मरीजों को सिर्फ तीन अस्पतालों के भरोसे छोड़ देना घोर लापरवाही है।  जिलों के स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना जांच किये जाने की घोषणा हवाहवाई है। 

आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश मीडिया कार्डिनेटर ने  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के नेतृत्व में बिहार में कोविड-19 संक्रमण के विस्तार की समीक्षा के लिए  टीम भेजे जाने के निर्णय का स्वागत किया है।  मृणाल ने आगे कहा कि कोरोना मरीजों के लिए बिहार सरकार ने पटना एम्स को दिया पर 100 से ज्यादा बेड खाली रहने के बावजूद मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा। केंद्र सरकार ने बिगड़ते हालात को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग से लव कुमार सहित तीन सदस्यीय टीम को बिहार भेजना पड़ा। यह साफ दर्शाता है कि बिहार सरकार इस महामारी को संभाल पाने में असमर्थ है। 

पार्टी ने नीतीश सरकार का  महामारी के लिए उचित कार्यवाई को छोड़ विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाना  के निर्णय को गलत ठहराया  है। बिहार की जनता को अभी  इलाज और बाढ़ राहत चाहिए चुनाव नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

चोरों ने कमरे का ताला तोड़ जेवरात समेत लाखो की नगदी उड़ायी

पूर्णिया। पूर्णिया के सहायक खजांची हाट थाना क्षेत्र के नवरत्न हाता मोहल्ले में बीती रात चोरों ने कमरा का ताला तोड़कर जेवरात समेत तीन...

महावीर फुटबॉल टूर्नामेंट का आगाज, दिबरा ने एक गोल से जीता मैच 

पूर्णिया। रुपौली प्रखंड के टीकापट्टी हाईस्कूल क्रीडा मैदान में महावीर फुटबॉल मैच टूर्नामेंट का मंगलवार से आगाज हुआ। इसका विधिवत उदघाटन बिहार के प्रसिद्ध...

अधिवक्ताओं ने किया आपातकालीन बैठक, पांच मार्च से करेंगे अनिश्चितकालीन न्यायालय काम कार्य बहिष्कार

दरभंगा। बेनीपुर बार एसोसिएशन की आपतकालिन बैठक मंगलवार को अध्यक्ष बच्चा राय की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें बेनीपुर व्यवहार न्यायालय का क्षेत्र विस्तार की...

नशेबाज़ पति ने किरासन तेल छिड़ककर पत्नी को किया आग के हवाले

पूर्णिया। मधुबनी टीओपी थाना के रिफ्यूजी कॉलोनी में एक शराबी पति ने नशे में धुत हो कर पत्नी के शरीर पर किरासन तेल छिड़क कर...

Recent Comments