previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar बिहार में 16 से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन, कोरोना के बढ़ते...

बिहार में 16 से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन, कोरोना के बढ़ते मामले पर सरकार ने उठाए कठोर कदम

Spread the love

पटना। बिहार में कोरोना के संक्रमण ने तेजी दिखानी शुरू कर दी है। मंगलवार को सर्वाधिक 1,432  कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। इसके चलते राज्य सरकार ने 16 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक  संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। अगले  15 दिन आपातकालीन और अनिवार्य सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं बंद रहेंगी। मंगलवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में हुई क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (सीएमजी) की बैठक में इस पर मुहर लगाई गई। साथ ही गृह विभाग ने नई गाइडलाइन भी जारी कर दी है। 

बिहार सरकार की अधिसूचना के अनुसार, पूर्ण लॉकडाउन की अवधि के दौरान पूरे प्रदेश में इमरजेंसी और जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं बंद रहेंगी। धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे। दूध, फल, सब्जी और राशन जैसे जरूरी सामान की दुकानों को छोड़कर अन्य सभी दुकानें बंद रहेंगी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पटना, भागलपुर, पूर्णिया, बक्सर, नवादा, कैमूर, मोतिहारी, मुंगेर, खगड़िया, पूर्वी चंपारण (मोतिहारी) और किशनगंज में 9 और 10 जुलाई से ही लॉकडाउन लगा हुआ है।

 केंद्र सरकार के अधीन सभी दफ्तर लॉकडाउन के दौरान पूरी तरह बंद रहेंगे। रक्षा, पुलिस, पेट्रोल पंप, पोस्ट ऑफिस के कार्यालयों को इस लॉकडाउन से छूट दी गई है। बिहार सरकार के अधीन सभी सरकारी कार्यालय भी लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगे। सिर्फ बिजली, पानी, स्वास्थ्य, सिंचाई, खाद्य वितरण, कृषि एवं पशुपालन विभाग को छूट दी गई है। सभी व्यावसायिक और निजी संस्थान बंद रहेंगे। धार्मिक स्थल पूरी तरह से बंद रहेंगे। शॉपिंग माल बंद रहेंगे।

राज्य में सभी अस्पताल और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों और कार्यों को पूरी तरह लॉकडाउन से छूट दी गई है। फल, सब्जी, अनाज, दूध, मछली आदि की दुकानें खुली रहेंगी। हालांकि प्रशासन इनकी होम डिलिवरी की हर संभव व्यवस्था करने का प्रयास कर रहा है। सभी बैंक और एटीएम खुले रहेंगे। होटल, रेस्त्रां या ढाबे खुले रहेंगे, लेकिन वहां खाने की व्यवस्था नहीं होगी। सिर्फ पैकिंग सेवा देनी होगी। इसके अलावा रेल, हवाई सफर को मंजूरी दी गई है। हालांकि ऑटो, टैक्सी पूरे राज्य में संचालित होंगे। इसके साथ जरूरी सेवाओं के लिए निजी गाड़ियों का संचालन भी होगा। बाकी सभी ट्रांसपोर्ट सर्विस बंद रहेगी।

पटना हाइकोर्ट प्रशासन ने राज्य की सभी जिला अदालतों को कम-से-कम एक सप्ताह तक वर्चुअल तरीके से ही कोर्ट का कामकाज करने को कहा है। एक दिन पहले सोमवार को ही मुख्य न्यायाधीश जस्टिस संजय करोल की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

बिहार में कोरोना का संक्रमण अनलॉक वन और अनलॉक टू में तेजी से फैला है। जुलाई के 14 दिन में ही पूरे जून से अधिक रोगी मिले हैं। अनलॉक टू के दौरान (1 जुलाई से 14 जुलाई तक) 8,865 संक्रमित मिले। अनलॉक वन के एक माह में कोरोना के 6,181 मरीज मिले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

18 माह की बच्ची के दुष्कर्मी को आजीवन कारावास की सजा, निर्भया फंड से मिलेगी मदद

बेगूसराय। दुष्कर्म मामले के एक आरोपी को बेगूसराय न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। न्यायालय ने दो साल तक मामले पर विचारने...

सिविल सर्जन ने सूर्या हॉस्पिटल में कोविड वेक्सिनेशन सेंटर का किया शुभारंभ

सहरसा। शहर के गांधी पथ स्थित सूर्या हॉस्पिटल में सोमवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन सेन्टर का शुभारंभ किया गया। जिसका उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ अवधेश...

बॉडी बिल्डिंग में क्षितिज ने किया पूर्णिया का नाम रोशन

पूर्णिया। पूर्णिया के लाल क्षितिज कुमार ने बिहारशरीफ के आई.एम.ए.हॉल में एनबीबीएफ द्वारा आयोजित सीनियर मिस्टर बिहार बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगता में बिहार में टॉप-5 में...

19 लाख रोजगार मांग रहा युवा बिहार: राजू मिश्रा

दरभंगा। ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन (एआईवाईएफ) दरभंगा जिला परिषद् द्वारा सोमवार को राज्यव्यापी आवाह्न पर विभिन्न मांगों को लेकर जिला समाहरणालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन...

Recent Comments