previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Delhi यूएई से 11 बजे उड़ान भरकर 2 बजे भारत पहुंचेंगे राफेल

यूएई से 11 बजे उड़ान भरकर 2 बजे भारत पहुंचेंगे राफेल

Spread the love
नई दिल्ली। पांच राफेल विमानों की पहली खेप बुधवार दोपहर 2 बजे भारत पहुंच जाएगी। यह फाइटर जेट्स सुबह 11 बजे यूएई से उड़ान भरेंगे।अगर विमानों के भारत आने पर अंबाला का मौसम खराब हुआ तो फिर पांचों फाइटर जेट्स की लैंडिंग कराने के लिए  विकल्प के तौर पर राजस्थान के जोधपुर एयरबेस को तैयार रखा गया है।

सोमवार को फ्रांसीसी शहर बोर्डो के मेरिनैक एयर बेस से सात घंटे की उड़ान भरने के बाद रात को ये विमान संयुक्त अरब अमीरात में अबू धाबी के पास अल धफरा में फ्रांसीसी एयरबेस पर उतरे थे। अभी पांचों राफेल विमान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अल धफरा एयरबेस पर खड़े हैं। बुधवार को सुबह 11 बजे भारत के लिए उड़ान भरकर दोपहर 2 बजे अंबाला एयरबेस पहुंच जाएंगे। अंबाला में राफेल की अगवानी वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया करेंगे। यहां लैंडिंग के बाद राफेल को उड़ाकर लाने वाली पायलट्स की टीम अपने ग्रुप कैप्टन हरकीरत सिंह की अगुवाई में एयर चीफ भदौरिया को फ्रांस में मिलीं ट्रेनिंग के बारे में अवगत कराएगी।

वायुसेना के सूत्रों ने बताया कि अभी अंबाला के एयरबेस पर राफेल आ रहे हैं लेकिन इन्हें जल्द से जल्द ऑपरेशनल करने और सुरक्षा के मद्देनजर जल्द ही यहां से दूसरे एयरबेस रवाना किए जाने की भी योजना है। राफेल के लिए बनाई गई 17 स्क्वाड्रन ‘गोल्डन एरोज’ का कमांडिंग ऑफिसर ग्रुप कमांडर हरकीरत सिंह को बनाया गया है। उनके साथ विंग कमांडर एमके सिंह और विंग कमांडर आर कटारिया भी पायलट दल में शामिल हैं। राफेल के भारत आने पर अगर अंबाला का मौसम खराब हुआ तो फिर सभी राफेल विमानों की लैंडिंग के लिए वैकल्पिक तौर पर राजस्थान के जोधपुर एयरबेस को तैयार रखा गया है।

फ्रांस से इन लड़ाकू विमानों की आपूर्ति कोविड-19 की वजह से लगभग दो माह देरी से हो रही है। फिर भी फ्रांस ने ‘दोस्ती का हाथ’ बढ़ाकर यह लड़ाकू विमान ऐसे समय में भारत को दिए हैं, जब पूर्वी लद्दाख में सीमा के मुद्दे पर चीन के साथ गतिरोध चल रहा है। हालांकि भारतीय वायुसेना ने पहले ही वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से लगे अपने अहम हवाई ठिकानों पर अग्रिम पंक्ति के लड़ाकू विमानों को तैनात कर रखा है। फिर भी चीन के साथ लगने वाली एलएसी पर वायुसेना की संचालन क्षमताओं को और मजबूत करने के इरादे से राफेल विमानों को जल्द से जल्द ऑपरेशनल बनाकर लद्दाख सेक्टर में तैनात किए जाने की संभावना है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

18 माह की बच्ची के दुष्कर्मी को आजीवन कारावास की सजा, निर्भया फंड से मिलेगी मदद

बेगूसराय। दुष्कर्म मामले के एक आरोपी को बेगूसराय न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। न्यायालय ने दो साल तक मामले पर विचारने...

सिविल सर्जन ने सूर्या हॉस्पिटल में कोविड वेक्सिनेशन सेंटर का किया शुभारंभ

सहरसा। शहर के गांधी पथ स्थित सूर्या हॉस्पिटल में सोमवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन सेन्टर का शुभारंभ किया गया। जिसका उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ अवधेश...

बॉडी बिल्डिंग में क्षितिज ने किया पूर्णिया का नाम रोशन

पूर्णिया। पूर्णिया के लाल क्षितिज कुमार ने बिहारशरीफ के आई.एम.ए.हॉल में एनबीबीएफ द्वारा आयोजित सीनियर मिस्टर बिहार बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगता में बिहार में टॉप-5 में...

19 लाख रोजगार मांग रहा युवा बिहार: राजू मिश्रा

दरभंगा। ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन (एआईवाईएफ) दरभंगा जिला परिषद् द्वारा सोमवार को राज्यव्यापी आवाह्न पर विभिन्न मांगों को लेकर जिला समाहरणालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन...

Recent Comments