previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar सदर अस्पताल के एसएनसीयू से बच्चा चोरी के खिलाफ परिजनों ने किया...

सदर अस्पताल के एसएनसीयू से बच्चा चोरी के खिलाफ परिजनों ने किया सड़क जाम

Spread the love
छपरा। सदर अस्पताल के एसएनसीयू से बच्चा चोरी के विरोध में परिजनों ने रविवार को सदर अस्पताल के सामने डाकबंगला रोड को जाम कर यातायात बाधित कर दिया तथा जमकर हंगामा मचाया। बच्चा चोरी शनिवार को दोपहर करीब 2:00 बजे हुई थी और प्रशासन के द्वारा देर शाम तक बच्चा बरामद कर लिए जाने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अगले दिन आज रविवार को बच्चा बरामद नहीं होने से आक्रोशित होकर परिजनों ने सदर अस्पताल के मुख्य गेट के सामने डाक बंगला रोड को जाम कर दिया।
शनिवार से नवजात शिशु के परिजन आंदोलनरत हैं। शनिवार की संध्या समय परिजनों के द्वारा एसएनसीयू के सामने आगजनी कर प्रदर्शन किया गया था। करीब 24 घंटे से सदर अस्पताल में हंगामा की स्थिति बनी हुई है। बताते चलें कि खैरा थाना क्षेत्र के धूप नगर गांव निवासी सुशील कुमार साह के नवजात शिशु को इलाज के लिए शुक्रवार को एसएनसीयू में भर्ती कराया गया था। अगले दिन शनिवार को दोपहर करीब 2:00 बजे महिला स्वास्थ्य कर्मी में सुशील कुमार साह को हगीज खरीद कर लाने के लिए भेजा। सुशील हगीज खरीद कर जब वापस लौटा, तब तक उसका बच्चा एसएनसीयू से गायब था।
previous arrow
next arrow
Slider
इस घटना के बाद से अस्पताल में हंगामा शुरू हो गया। घटना की सूचना पाकर मौके पर जिलाधिकारी डॉ निलेश रामचंद्र देवरे, पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार, सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा पहुंचे और परिजनों से मिलकर घटना की जानकारी ली। इस घटना के बाद भगवान बाजार थाना की पुलिस कार्रवाई शुरू कर दी, लेकिन बच्चा को बरामद करने में भगवान बाजार थाना की पुलिस पूरी तरह नाकाम और विफल रही है । घटना के बाद से नवजात शिशु के परिजन सदर अस्पताल में ही जमे हुए हैं और वह लगातार हंगामा कर रहे हैं। रविवार को दिन के करीब 10:00 बजे सदर अस्पताल में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय सीटी स्कैन सेंटर का उद्घाटन करने के लिए आने वाले थे। इसको लेकर अस्पताल प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी।
इसी बीच नवजात शिशु के परिजनों ने अस्पताल के मेन गेट के सामने सड़क जाम कर बवाल मचाना शुरू कर दिया। नवजात शिशु के परिजनों के हंगामा और आंदोलन के कारण मंत्री अस्पताल नहीं पहुंचे और सुबह 10:00 बजे प्रस्तावित उद्घाटन कार्यक्रम अब तक नहीं हो सका है। इसी बीच आंदोलनकारी जिलाधिकारी के आवास के सामने पहुंचकर घेराव शुरू कर दिए और वहां भी हंगामा मचा हुआ है। समाचार लिखे जाने तक डाकबंगला रोड जाम है। मौके पर यातायात पुलिस के जवान पहुंचे हुए हैं। परिजनों का कहना है कि बच्चा जब तक बरामद नहीं होगा तब तक वह सड़क पर ही बैठे रहेंगे। सड़क जाम तथा आंदोलन के बावजूद भगवान बाजार थाना के पुलिस पदाधिकारी नजर नहीं आए। मौके पर केवल यातायात पुलिस के जवान पहुंचे हुए हैं। नवजात शिशु के परिजनों के आंदोलन के कारण विधि व्यवस्था की गंभीर समस्या उत्पन्न होने की आशंका बनी हुई है।
previous arrow
next arrow
Slider

Most Popular

आप वाहन लेकर वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना में नहीं जा सकेंगे

बगहा। वाल्मीकिनगर के वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना (VTR)  के वन क्षेत्र में निजी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। साथ ही मंदिर...

सजायाफ्ता कैदी की इलाज दौरान हुई मौत

बेतिया। जिले के  मंडल कारा (JAIL) के एक सजायाफ्ता कैदी की सोमवार को इलाज के दौरान मौत (DEATH) हो गई। वह दुष्कर्म के एक...

एसबीआई बैंक का स्टाफ कोरोना पॉजिटिव

बेतिया। बेतिया (BETTIAH) से दस किलो मीटर दूर नौतन एसबीआई (SBI) के एकाउन्टेन्ट नौलेश कुमार के पोजिटिव रिपोर्ट सोमवार को आने के बाद बैक...

बेतिया के जीएमसीएच में युवती की मौत पर हंगामा

बेतिया। गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल (GMCH) के फिमेल मेडिसिन वार्ड में शिवानी कुमारी (16) की मौत सोमवार की सुबह हो गयी। परिजनों ने चिकित्सक...

Covid-19 Update

India
1,264,544
Total active cases
Updated on April 13, 2021 1:43 am