previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar स्नातक पार्ट थर्ड की 50% रिजल्ट पेंडिंग, परीक्षा विभाग ने जारी की...

स्नातक पार्ट थर्ड की 50% रिजल्ट पेंडिंग, परीक्षा विभाग ने जारी की निर्देश

Spread the love

 

मुजफ्फरपुर। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से जारी रिजल्ट में सुधार के लिए विश्वविद्यालय आने की जरूरत नहीं है। परीक्षा विभाग की ओर से छात्रों के हित में एडवाजरी जारी की गई है।

जानकारी के अनुसार विश्वविद्यालय की ओर से स्नातक तृतीय खंड की परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया है। इस बार करीब 86000 छात्र इस परीक्षा में शामिल हुए हैं। अलग-अलग कारणों से करीब 50 प्रतिशत छात्रों की रिजल्ट लंबित है।

कॉलेज से भेजवाएं सूचना

छात्र कम्प्यूटराइज्ड रिजल्ट में सुधार के लिए मांगी गई सूचना ऑनलाइन दें। आवेदन संबंधित कागजातों को खुद विश्वविद्यालय लेकर नही आए। उसको अपने महाविद्यालय द्वारा ही भेजवाएं। प्रोमेटेड छात्रों के पार्ट एक व दो के अंक विधिवत जांच के बाद ही चढ़ाए जाएंगे।

परेशानी का बताया गया निदान

परीक्षा नियंत्रक डॉ.मनोज कुमार ने बताया कि छात्रों को होने वाली तमाम समस्या का निदान ऑनलाइन है। इसलिए ऑनलाइन सुझाव का पालन करें। अधिकतर छात्र पेपर 5 और जीएस के अंक ना चढऩे से परेशान हैं। किसी छात्र को एक पेपर, दो पेपर या किसी भी पेपर में अंक नहीं चढ़े हैं। वैसे छात्र ऑनलाइन रिज़ल्ट चेक करने के बाद एक ऑप्शन दिखेगा क्लिक फॉर पेंडिंग रिज़ल्ट वाला।

छात्र उस पर क्लिक करके सारे डिटेल्स फिल अप कर दे और सबमिट कर दें। रिज़ल्ट एक हफ़्ते के अंदर सुधार दिया जाएगा। जो जानकारी मांगी गई है वह सारे डिटेल्स फिल अप करें, एक भी खाली नहीं छोड़े। कुछ छात्र को डुप्लीकेट रौल नंबर भी साइट पर दिख रहा होगा। वैसे छात्रों को ध्यान रखना है कि डुप्लीकेट रौल नंबर शो होने के बाद एक ऑप्शन आएगा क्लिक टू चेक डुप्लीकेट रॉल नंबर रिज़ल्ट उसपर क्लिक करें।

क्लिक करने के बाद सारी जानकारी फिल अप करें।.जैसे रॉल नंबर, रजिस्ट्रेशन नंबर। उसके बाद आपका रिज़ल्ट शो हो जाएगा। इसके बाद भी अगर रिज़ल्ट शो नहीं होता है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। एक सप्ताह के अंदर-अंदर रिज़ल्ट स्वत: ठीक हो जाएगा। अगर रिजल्ट के साइट पर जिन छात्रों को परीक्षा में अनुपस्थित दिखा रहा है। उन्हें ऑफलाइन आवेदन देना होगा ।

संबंधित छात्र जिस कॉलेज से हैं वहां पर जाकर आवेदन को अग्रसारित कराने के बाद जिस कॉलेज में सेंटर था वहां से मेमो लेकर कालेज के माध्यम से विश्वविद्यालय में जमा करावें। सीधे आवेदन लेकर आने की आवश्यकता नहीं है। अगर रिज़ल्ट को लेकर कोई और समस्या है तो कॉमेंट बॉक्स में लिखें। यथासंभव उसका समाधान परीक्षा विभाग करेगा। डॉ.कुमार ने बताया कि जो मुख्य समस्या छात्रों को है उसका समाधान बताया गया है। अगर छात्र उसका पालन करेंगे तो उनको मानसिक व आर्थिक परेशानी नहीं होगी।

इस बारे में परीक्षा नियंत्रक बीआरएबीयू डॉ. मनोज कुमार ने कहा‍ कि रिज़ल्ट सुधार केनाम पर किसी के झांसे में ना आएं। सुधार के लिए किसी भी तरह की राशि नहीं दे। विश्वविद्यालय में सारे लंबित रिजल्ट को ठीक करने के लिए दिन-रात काम हो रहा है। ऑनलाइन सिस्टम का लाभ लें तथा कोई परेशानी हो तो अपने कॉलेज से संपर्क करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अंतरराष्ट्रीय शूटर और भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह ने किया मैराथन दौड़ का उद्घाटन

पटना/रोहतास। रोहतास जिला प्रशासन एवं रोहतास जिला एथलेटिक्स संघ के संयुक्त तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित रोहतास मिनी मैराथन, 2021 का उद्घाटन...

घर में घुसकर महिला को मारी गोली, हालत नाजुक

बेगूसराय। बेगूसराय में बेखौफ अपराधियों का कहर लगातार जारी है। सोमवार की दोपहर को बदमाशों ने घर में घुसकर एक महिला को गोली मार...

महिला दिवस पर वालीवाल कार्यक्रम का आयोजन

दरभंगा। महिला दिवस के अवसर पर कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के शिक्षा शास्त्र विभाग में सोमवार को वॉलीवाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया।इसकी...

अतिथि मानकर दी जायेगी डायलसिस की सुविधाएं

बेतिया। बेतिया जी.एम.सी.एच. के सी-ब्लाॅक के सेकेन्ड फ्लोर पर अवस्थित डायलसिस सेन्टर का विधिवत उद्घाटन आज जिलाधिकारी कुंदन कुमार द्वारा किया गया। इस अवसर पर...

Recent Comments