बैंक लूट में शामिल पांच अपराधी गिरफ्तार, शेष की गिरफ्तारी के लिए जारी है छापेमारी

बेगूसराय । आईडीबीआई बैंक की लक्ष्मीपुर शाखा में 16 दिसम्बर को हुए लूट कांड का पुलिस ने उद्भेदन कर दिया है। लूट की साजिश बेगूसराय के ही एक अपराधी ने रची तथा समस्तीपुर के आठ अपराधी समेत कुल दस ने मिलकर घटना को अंजाम दिया था। यह जानकारी शनिवार को कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी अवकाश कुमार ने दी।

एसपी ने बताया कि 16 दिसम्बर को दस बदमाशों ने वीरपुर थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर में स्थित आईडीबीआई शाखा में दिनदहाड़े धावा बोलकर हथियार के बल पर छह लाख 65 हजार 570 रुपये लूट लिये थे। घटना की सूचना मिलते ही सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजन सिन्हा के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया। विशेष टीम ने सीसीटीवी फुटेज की जांच के बाद मैनुअल और तकनीकी अनुसंधान करते हुए नौ दिन से लगातार कार्रवाई की जिसमें पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य अपराधियों को भी चिन्हित कर गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। इन लोगों ने लूट कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है तथा इनके पास से 19 हजार रुपयये, घटना में प्रयुक्त तीन बाइक, दो देसी पिस्टल, एक गोली एवं दो खोखे बरामद किये गये हैंं।
पकड़े गए अपराधियों में समस्तीपुर जिला के घटहो निवासी चंदन पासवान, युवराज सोनी उर्फ छोटू, माइकल सोनी, विद्यापति नगर थाना क्षेत्र के सोठगामा गांव निवासी विवेक कुमार और बेगूसराय जिला के तेघड़ा थाना क्षेत्र के नोनपुर निवासी पंकज कुमार सहनी हैं। लूट की साजिश रचने वाले बेगूसराय के एक अपराधी समेत घटना में शामिल समस्तीपुर के चार अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। पकड़े गए बदमाशों के किसी आपराधिक इतिहास का पता नहीं चला है। एसपी ने बताया कि कांड के उद्भेदन और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पूरी टीम को पुरस्कृत किया जा रहा है। इसके अलावा वरीय पदाधिकारियों से पुरस्कृत करने की अनुशंसा गई है।