मॉल संचालक कृणाल सिंह हत्याकांड का पुलिस ने किया उद्भेदन

-पार्टनर ही निकला शूटर,घर में बुलाकर कर दी हत्या -शूटर सहित दो गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी -हत्य में प्रयुक्त पिस्टल, मैगजीन, गोली, पिलेट, बाइक व कार बरामद

मोतिहारी। मॉल संचालक कोटवा बाबू टोला निवासी कृणाल सिंह हत्याकांड में शामिल बदमाशो को गिरफ्तार कर मोतिहारी पुलिस ने इस घटना का उद्भेदन कर दिया है। पुलिस इस मामले में शूटर सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार बदमाशो में कोटवा थाना के डुमरा गांव निवासी राधव कुमार मिश्रा का पुत्र मंटू मिश्रा,उसी गांव के ललन पांडेय का पुत्र सोनू पांडेय शामिल है। 

इस मामले में संलिप्त अन्य आधा दर्जन लोगों की खोज में छापेमारी जारी है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त पिस्टल,मैंगजीन एवं जिंदा गोली के अलावें पिलेट व कृणाल की बाइक भी बरामद कर ली है। 

हत्या का कारण जेल में बंद कुख्यातो द्वारा बताये गये ठेका कार्य कार्य को मैनेज करना है। उपरोक्त जानकारी देते हुए गुरूवार को नगर थाना परिसर में डीएसपी सदर अरूण गुप्ता ने बताया कि टेक्नीकल सेल की सहायता से सोनू को हवाई अड्डा चौक के समीप से गिरफ्तार किया गया। जब उसके मोबाईल को खंगला गया तो मोबाईल में कॉल रिकॉडिंग से पता चला कि हत्याकांड का मुख्य सूत्राधार मंटू है। उसकी गिरफ्तारी गायत्री नगर मुहल्ले से हुई। उसके निशानदेही पर घर के बगल नवनिर्मित मकान स्थित झाड़ी मे हत्या में प्रयुक्त पिस्टल, मैगजीन वहीं उसके गायत्री नगर आवास के कमरे से पिलेट जबकि गिरफ्तार सोनू के घर से शव लेकर अस्पताल पहुंचे कार एवं कृणाल की बाइक बरामद की गयी।

06dl_m_992_06052022_1

डीएसपी गुप्ता ने बताया कि मंटू मिश्रा ने कृणाल को फोन करके अपने आवास पर बुलाया। मंटू जेल में बंद एक कुख्यात का ठेका मैनेज करता है। उसने पुलिस को बताया है कि हथियार देखने के दौरान एकाएक फायरिंग हो गई। नतीजतन गोली कृणाल को लग गई।

 तत्काल उसे अपने कार चालक अजय महतो पिता रामभरोस महतो,शिवहर जिला अंतर्गत तरियानी थाना के छपरा निवासी रिंकू सिंह के साथ बेलीसराय मुहल्ला स्थित प्रसिद्ध ठीकेदार निशीकांत मिश्रा के घर पर पहुंचकर आपस में राय मशविरा के बाद हत्या की घटना को डायवर्ट करने के ख्याल से सदर अस्पताल ले जाया गया। इसी दौरान अपने आप को बचाने की चक्कर में गायत्री नगर छठिया घाट के समीप गोली मार दिए जाने की अफवाह फैलाकर शव के साथ अस्पताल चौक को जाम कर पुलिस को भी भ्रमित करने का प्रयास किया गया। उन्होने बताया कि गोली मंटू के घर में मारी गई। वहां से उसे एक डॉक्टर दंपत्ति के यहां ले जाया गया। पुलिस डॉक्टर दंपत्ति की भूमिका की जांच में जुट गई है।

इस संबंध में डीएसपी सदर श्री गुप्ता ने बताया कि एसपी डॉ. आशिष कुमार के द्वारा मेरे नेतृत्व टीम का गठन हुआ था। जिसमें नगर थानाध्यक्ष विजय प्रसाद राय, छतौनी नित्यानंद सिह, मुफ्फसिल थानाध्यक्ष अवनीश कुमार, टेक्नीकल सेल के मनीष,चिरंजीवी,नित्यानंद दूबे सहित अन्य को शामिल किया गया था। यह हत्या एक बड़ी चुनौती थी। लेकिन 72 घंटा के अंदर ही इसका पूरी तरह से उद्भेदन कर दिया गया है।

 

Read More गांधी जयंती से पहले एक लाख सदस्य बनाएगी बिहार नवयुवक सेना, चरमराई स्वास्थ्य एवं शिक्षा व्यवस्था पर मजबूती से करेगी कार्य

Tags:

About The Author

Post Comment

Comments

Download Android App

Latest News

पश्चिम चंपारण के मजदूर की दिल्ली में मौत पश्चिम चंपारण के मजदूर की दिल्ली में मौत
बेतिया । जिले के इनरवा थाना क्षेत्र स्थित बरवा परसौनी निवासी पिंटू कुमार (18) की मौत दिल्ली में आग से...
अबू धाबी के रेस्तरां में विस्फोट, एक भारतीय सहित दो की मौत, 120 घायल
जादू-टोने से तबाह करने की धमकी देकर मौलाना ने किया नाबालिग लड़की से दुष्कर्म
मोतिहारी में असामाजिक तत्वों ने भगवान की मूर्तियां तोड़ी, लोगों में भारी गुस्सा, हजारों भक्तों के आस्था से जुड़ा है मंदिर
मैंने बल्लेबाजी करते समय कभी किसी तरह का दबाव महसूस नहीं किया : रजत पाटीदार
बाल-बाल बचे बिहार के उप मुख्यमंत्री, सत्संग का मंच टूटने से जदयू जिलाध्यक्ष घायल
विनय कुमार सक्सेना ने ली दिल्ली के उपराज्यपाल पद की शपथ

Epaper

मौसम

NEW DELHI WEATHER

राशिफल

Live Cricket