previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home State Bihar मेहतन की भट्ठी में तपकर कुंदन बनी पूजा

मेहतन की भट्ठी में तपकर कुंदन बनी पूजा

Spread the love
पूर्णियां। बिहार में महिला सशक्तिकरण की मिशाल बनी पूजा भट्ट का जन्म नौ जून 1991 को को पूर्णिया में हुआ। इनके पिताजी स्व.नलिन भट्ट भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) में अधिकारी पद पर रांची में पदस्थापित थे। इनके पिताजी मधुमेह से पीड़ित थे। किडनी खराब हो जाने के कारण इनके पिताजी का देहांत वर्ष 2005 में हो गया। इनकी माता जी का नाम स्व. प्रीति राय है। इनकी माताजी पेशे से शिक्षिका थी। 2019 में कोरोना संक्रमित होने के कारण इनकी माता जी भी चल बसी। 

previous arrow
next arrow
Slider

पूजा भट्ट मूलतः मुजफ्फरपुर (MUZAFFARPUR) की रहने वाली है। पिता की मृत्यु (DEATH) के बाद ये रांची (RANCHI) छोड़कर अपने ननिहाल पूर्णियां में आकर रहने लगी। इनकी प्रारंभिक शिक्षा डीएवी स्कूल रांची (DAV SCHOOL RANCHI) में हुई। उन्होंने 2006 में मोहनलाल बजाज उच्च विद्यालय गुलाब बाग पूर्णिया से मैट्रिक परीक्षा  उत्तीर्ण की। पूजा ने 2008 में आईकॉम एवं  2012  में अकाउंट विषय में नेशनल डिग्री कॉलेज, रामबाग, पूर्णियां से स्नातक की पढ़ाई उत्तीर्ण की।
पूजा भट्ट दो भाई एवं एक बहन है। इनके दोनों छोटे भाई अध्ययनरत हैं। पिता के आकस्मिक निधन होने के बाद भाई-बहनों में सबसे बड़ी होने के कारण इनकी परिवारिक जिम्मेवारी काफी बढ़  गई थी। पूजा ने अपनी सूझ-बूझ एवं मां के मार्गदर्शन में अपने आप को शिक्षा-संस्कार से जोड़े रखा तथा स्नातक की शिक्षा पूरी की। इनकी माता जी की इच्छा थी कि पूजा भट्ट प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करें ताकि सरकारी नौकरी प्राप्त कर शांति पूर्वक सुख में जीवन व्यतीत कर सकें, लेकिन इनकी अभिरुचि सरकारी नौकरी की ओर नहीं थी बल्कि स्वरोजगार अपना कर खुद का मालिक बनने की थी।
इनकी सोच थी कि मैं कुछ सृजनात्मक कार्य करूं। कपड़ों की डिजाइनिंग इन्हें आकर्षित करती थी। हालांकि इन्होंने डिजाइनिंग के क्षेत्र में ना तो कोई व्यवसायिक कोर्स किया था और ना ही कोई प्रशिक्षण प्राप्त किया था। इसके बावजूद कपड़ों के डिजाइनिंग कार्य में यह काफी निपुण है। इसी हुनर को पूजा भट्ट ने अपनी जीविका का माध्यम बनाना चाहा । इनके इस हुनर को व्यवसायिक रूप देने के राह में पूंजी की कमी सबसे बड़ी बाधा थी। इस समस्या के समाधान के लिए इन्होंने पीएमईजीपी अंतर्गत जिला उद्योग केंद्र, पूर्णिया के माध्यम से 17 लाख रुपये का ऋण लिया, और उससे अपने कार्य को गति देना प्रारंभ की। इस ऋण की राशि के सहयोग से इन्होंने पूजा टेक्सटाइल उद्योग की स्थापना की। जिसके अंतर्गत रेडीमेड गारमेंट का निर्माण किया जाने लगा। इस इकाई में लगभग 10 लोगों को रोजगार मिला हुआ है। वहीं  इस इकाई का वार्षिक टर्नओवर लगभग 15 लाख रुपया पहुंच गया है।
पूजा की गारमेंट फैक्ट्री (GARMENT FACTORY) में मुख्यत: महिला पोशाक जैसे– ब्लाउज, लहंगा, डिजाइनर कुर्ती आदि का निर्माण किया जाता है। इनके यहां उत्पादित हुए सामानों की मांग पूर्णिया, कटिहार, सहरसा, भागलपुर, मधेपुरा, सिलीगुड़ी, दिल्ली, मुम्बई के साथ-साथ विदेश भूटान के बाजारों में भी है।इस उद्योग इकाई के लिए कच्ची सामग्रियां जैसे-कपड़ों का थान आदि की खरीदारी सूरत, मुम्बई, दिल्ली एवं जयपुर से की जाती है। 
पूजा कहती है कि वे शुरू से चाहती थी कि अपना स्वरोजगार स्थापित करें। यहां के स्थानीय बेरोजगार लोगों को रोजगार मिले। पूजा ने कहा कि मैं अपने बिजनेस का विस्तार करूंगी। अभी तक केवल महिला पोशाक आधारित वस्तुओं का निर्माण होता है, अब इसके साथ-साथ पुरुष के वस्त्रों का भी निर्माण किया जाएगा। वहीं  उद्योग इकाई व विस्तार के साथ-साथ बाहर से आए कुशल कारीगरों को भी रोजगार मिलेगा। पूजा ने कहा कि आज मैं अपने बिजनेस की खुद मालिक हूं, किसी के अधीन नहीं हूं। इस बात का मुझे काफी गर्व है। पूजा कहती है की सरकार द्वारा मिले लोन के बाद मैंने इस व्यवसाय को प्रारंभ किया। उन्होंने बताया 2017 में मुझे प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत लोन मिला और इसमें मुझे काफी आसानी भी हुई। शादी के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी तो मुझे मेरे व्यापार को आगे बढ़ाना है। फिलहाल शादी करने का इरादा नहीं है।
उल्लेखनीय है कि पूजा का यह प्रयास इंडस्ट्री के कई फायदों की ओर इंगित करता है और उनके संघर्षों को बताता है। एक तो सरकार के प्रधानमंत्री रोजगार योजना के अंतर्गत कैसे लाभ उठाया जा सकता है, तथा दूसरा महिला सशक्तिकरण का एक बहुत मजबूत आधारशिला इस योजना के तहत रखी गयी है। तीसरे रूप में अगर एक खास बात को देखा जाए तो कोरोना वायरस काल में जो मजदूर बाहर जाने वाले थे या बाहर से आ गए, नहीं जा सके, उन लोगों को यहां रोजगार मिला और उन्हें यह संतुष्टि रही कि हम अपने ग्रामीण परिवेश में ही रहकर अपना जीविकोपार्जन कर रहे हैं।
previous arrow
next arrow
Slider

Most Popular

बिहार की सभी परीक्षाएं स्थगित, शिक्षा विभाग ने निकाला नया आदेश

पटना। बिहार में कोरोना से लगातार खराब होते हालात को देखते हुए शिक्षा विभाग ने गुरूवार को एक नया आदेश  जारी किया है। विभाग...

दस मई तक सभी नालों की उड़ाही हर हाल में पूरी करें: उपमुख्यमंत्री

पटना। बिहार के उप मुख्यमंत्री सह नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री  तारकिशोर प्रसाद ने 18 नगर निगमों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के...

भाकपा-माले ने पार्टी का स्थापना दिवस मनाया

बगहा। पश्चिम चम्पारण के बगहा और नरकटियागंज में भाकपा माले ने पार्टी कार्यालय पर पार्टी की स्थापना के 52 वां वर्षगांठ मनाकर झंडातोलन करते...

भारत नेपाल बॉर्डर सील की बात पूरी तरह से अफवाह

रक्सौल। एक बार फिर से भारत-नेपाल बॉर्डर पर नेपाल पुलिस द्वारा सख्ती शुरू कर दी गयी है। जबकि बॉर्डर सील होने की अफवाह थी,...

Covid-19 Update

India
2,428,775
Total active cases
Updated on April 23, 2021 5:44 am