saran
mani head
nitiraj .
harsh-head
ajay kumar head
sonali header
previous arrow
next arrow
Spread the love
Home State Bihar भाग -1: पूर्वी चम्पारण के स्वास्थ्य विभाग का हाल, 'जहाँ छुओ वही...

भाग -1: पूर्वी चम्पारण के स्वास्थ्य विभाग का हाल, ‘जहाँ छुओ वही मवाद!’

Spread the love

सागर सूरज

मोतिहारी। भ्रष्टाचार और चिकित्सा पदाधिकारियों के शर्मनाक कारगुजारियों के लिए शुरू से ही विवादों मे रहने वाला मोतिहारी का सदर अस्पताल आज- कल पुनः ऐसे ही मामलों को लेकर सुर्खियों मे है। भ्रष्टाचार का नया मामला चिकित्सा पदाधिकारी डॉ श्रवण कुमार पासवान (Dr.Shrawan Kumar Paswan) से सम्बंधित है। पासवान के उपर आरोप लगा है कि उन्होने अपने इंक्रेमेंट के सारे रुपए गलत तरीके से निकाल लिए है, जबकि भ्रष्टाचार  के आरोप मे बिहार के राज्यपाल (Governor) के आदेश पर उनका इंक्रेमेंट रोक दिया गया था।  

 घटना के बाद कई अन्य वरीय पदाधिकारियों के साँठ-गांठ की भी खबरे आ रही है। मामले मे ज़िलाधिकारी से एक कमिटी के माध्यम से जांच कर कार्रवाई की मांग की गयी है।  

बता दे कि डॉ श्रवण कुमार पासवान ने नोडल पदाधिकारी (Nodal Officer) के रूप मे एक बीएएमएस (BAMS) डिग्री धारक पंकज कुमार सिंह को अल्ट्रासाउंड संचालन की अनुज्ञाप्ति दे डाली थी, जबकि पीसी और पीएनडीटी एक्ट 1994/1996 के अनुसार केवल  रेडियोलोजिस्ट  को ही अल्ट्रासाउंड संचालन का अधिकार है। जाहीर है इस अवैध अनुज्ञाप्ति को जारी करने मे अवैध उगाही का भी आरोप लगा था।

मामले मे विभागीय जांच हुई और डॉ श्रवण पासवान सहित अन्य संबन्धित अधिकारियों से लिखित स्पष्टीकरण भी पूछा गया और अंत मे डॉ पासवान भी दोषी पाये गए।

बाद मे जुलाई, 2017 मे सरकार के अपर सचिव अंजनी कुमार सिंह (Additional Secretary Anjani Kumar Singh) ने एक पत्र जारी करते हुये कहा की डॉ श्रवण पासवान सहित तत्कालीन सिविल सर्जन डॉ कामेश्वर मण्डल एवं तत्कालीन चिकित्सा पदाधिकारी, ढाका रेफेरल हॉस्पिटल (Dhaka Referral Hospital) डॉ संध्या कुमारी को इस मामले मे दंडित किया गया है ।

पत्र के अनुसार पासवान के अगले तीन वर्षो के लिए तीन वार्षिक वेतन वृद्धि पर रोक लगा दी गयी।

 साथ ही अगले तीन वर्षो तक के लिए उनके किसी प्रोन्नति पर भी रोक लगा दी गयी।

 उक्त पत्र बिहार के राज्यपाल के आदेश पर जारी किया गया था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्था इतनी ठीली है कि डॉ श्रवण पासवान ने सारे रुपए निकाल भी लिए और आदेश को कागजों तक ही सीमित रखते हुये बिहार के स्वास्थ्य विभाग मे व्यप्त भ्रष्टाचार की कलई भी पूरी तरह खोल कर रख दी।

 सनद रहे कि आदेश के बाद भी डॉ श्रवण पासवान प्रत्येक वर्ष का इंक्रेमेंट लगातार निकालते रहे, जैसे इन आदेशों का उस पर कोई असर ही नहीं रहा।

पूर्व मे डॉ श्रवण पासवान का एक डांस विडियो को लेकर काफी फजीहत का सामना करना पड़ा था। श्रवण पासवान अपने अधीनस्त महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ जम कर ठुमके लगाए थे, बाद मे उसका विडियो बना कर किसी ने वायरल कर दिया था। लेकिन हर बार कि तरह कोई न कोई बहाना करके डॉ पासवान मामले मे बच निकले थे।

यही नहीं केसरिया मे पदस्थपना के दौरान डॉ पासवान का एक विडियो वायरल (video viral) हुआ था जिसमे आरोप लगा था कि एक सर्जिकल दुकान के माध्यम से गिट्टी-बालू और कई तरह के घरेलू समान खरीद करते हुये दिखाये गये थे और उसका बिल भी स्वास्थ्य विभाग से भुगतान करने की बात कही गयी थी।

पुछे जाने पर डॉ पासवान ने कहा कि गिट्टी बालू वाले मामले मे जांच टीम गठित हुई थी, मैंने टीम को बता दिया था कि सारी गलती सर्जिकल के दुकान वाले की है जबकि इंक्रेमेंट के रोक वाले मामले मे हमने नियमानुसार कार्य किया है और डांस वाले मामले मे भी डीएम साहब ने क्लीन चिट दे दिया था ।

मामले मे स्वास्थ्य सचिव प्रत्यय अमृत से जांच की मांग की गयी है।

शेष अगले अंक मे… 

banner all
banner all
previous arrow
next arrow

Most Popular

बिहार में बारिश से सब पानी-पानी

पटना। बिहार में चक्रवाती सिस्टम से कम दबाव का केंद्र बना हुआ है़। राज्य में लगातार बारिश की वजह से सामान्य जनजीवन पटरी से...

बिहार : अनलॉक-तीन में शाम 7:00 बजे तक खुलेंगी दुकानें

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने सोमवार देर शाम ट्वीट कर अनलॉक-तीन (Unlock-3) का ऐलान किया। इसके तहत अब दुकानें शाम 7:00...

दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम देश में चल रहा है: अश्विनी चौबे

पटना। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Health Minister Ashwini Kumar Chaubey) ने सोमवार को लेडी हार्डिंग अस्पताल में वैक्सीनेशन (Vaccination)...

विरोध की राजनीति से ऊपर उठें कांग्रेस के युवराज: नंदकिशोर यादव

पटना। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री नंदकिशोर यादव (Ex Minister Nandkishor Yadav) ने कहा है कि सोशल मीडिया पर बड़ी-बड़ी बातें करने से...

Covid-19 Update

India
670,998
Total active cases
Updated on June 22, 2021 3:09 am