वायु सेना पहली बार ऑस्ट्रेलियाई 'पिच ब्लैक' हवाई युद्ध अभ्यास में हिस्सा लेगी

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना पहली बार रॉयल ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के द्विवार्षिक 'पिच ब्लैक' वायु युद्ध अभ्यास में भाग लेने ऑस्ट्रेलिया जाएगी।

indian_909

ऑस्ट्रेलिया के उत्तरी क्षेत्र डार्विन और टिंडल में 17 देशों के बीच 19 अगस्त से 6 सितंबर तक होने वाले बहुराष्ट्रीय हवाई अभ्यास में लगभग 4,000 सैन्यकर्मी और 140 विमान शामिल होंगे।

'पिच ब्लैक' एयर कॉम्बैट ड्रिल में वायु सेना की भागीदारी कूटनीतिक रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि क्वाड समूह के सदस्य भारत और ऑस्ट्रेलिया ने दोनों सेनाओं के बीच बातचीत को कारगर बनाने के लिए एक मार्गदर्शन दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए हैं।

भारतीय रक्षा मंत्रालय के अनुसार ऑस्ट्रेलिया के उत्तरी क्षेत्र में डार्विन और टिंडल में ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के ठिकानों से होने वाला यह द्विवार्षिक बहुराष्ट्रीय अभ्यास है।

प्रतिभागियों में ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, थाईलैंड, मलेशिया और संयुक्त राज्य अमेरिका के लगभग 4,000 सैन्यकर्मी और 140 विमान शामिल होंगे। दुनिया के सबसे बड़े प्रशिक्षण हवाई क्षेत्र में से एक अभ्यास 'पिच ब्लैक' में 17 देशों की सेनाओं के बीच तालमेल, परीक्षण और सुधार करने का अवसर होगा।

भारतीय रक्षा मंत्रालय ने कहा कि अभ्यास में भारतीय वायु सेना चार मल्टीरोल फाइटर्स सुखोई-30 एमकेआई, एक इल्यूशिन Il-78 टैंकर, एक लॉकहीड मार्टिन सी-130जे सुपर हरक्यूलिस और एक बोइंग सी-17 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के साथ भाग लेगी।

वायु सेना की टुकड़ी में 45 गरुड़ विशेष बल के जवान भी शामिल होंगे। भारत से ऑस्ट्रेलिया और वापसी की उड़ान के दौरान सुखोई-30 एमकेआई विमानों को आईएल-78 टैंकर मध्य हवा में ईंधन देगा। अभ्यास पूरा होने के बाद डार्विन से लौटते समय एसयू-30 एमकेआई को पहली बार ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के टैंकर केसी-30 ए हवा में ईंधन देंगे।

भारतीय दल का लक्ष्य नियंत्रित वातावरण में नकली हवाई युद्ध अभ्यास करना और वायु सेना की परिचालन क्षमता को बढ़ाने की दिशा में सर्वोत्तम प्रथाओं का पारस्परिक आदान-प्रदान करना है।

वायु सेना ने पिछले तीन वर्षों में दो बहुपक्षीय हवाई युद्ध अभ्यासों में भाग लिया है। इसमें अप्रैल-मई 2016 में संयुक्त राज्य अमेरिका में आयोजित रेड फ्लैग अभ्यास और नवंबर 2017 में इजराइल में ब्लू फ्लैग एयर कॉम्बैट ड्रिल हैं।

'पिच ब्लैक' एयर कॉम्बैट ड्रिल में वायु सेना की भागीदारी कूटनीतिक रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि क्वाड समूह के सदस्य भारत और ऑस्ट्रेलिया ने दोनों सेनाओं के बीच बातचीत को कारगर बनाने के लिए एक मार्गदर्शन दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए हैं।

About The Author

Post Comment

Comments

राशिफल

Live Cricket

Download Android App

Recent News

वेंटीलेटर हटा, सलमान रुश्दी की हालत में सुधार वेंटीलेटर हटा, सलमान रुश्दी की हालत में सुधार
    न्यूयॉर्क। सलमान रुश्दी की हालत में सुधार की खबर आ रही है। हालत में सुधार के बाद जीवन रक्षक
'वंदे मातरम' शब्द नहीं आजादी का मंत्र है, भारत फिर से बनेगा अखंड : गिरिराज सिंह  
पेशी के लिए लाए गए सजायाफ्ता आनंद मोहन पहुंच गए घर, विरोधी दलों ने उठाएं सवाल
पूर्व क्रिकेटर रॉस टेलर का बड़ा खुलासा- राजस्थान रॉयल्स के मालिक ने उन्हें मारा था थप्पड़
नीतीश-तेजस्वी सरकार में सभी पार्टियों के लिए मंत्री पद की संख्या हुई तय, 16 अगस्त को लेंगे शपथ
तृणमूल सांसद ने सीबीआई व ईडी दफ्तर को सील करने की दी धमकी, वीडियो वायरल
स्वतंत्रता दिवस स्पेशल: देशभक्ति के जज्बे को सलाम करती फिल्में

Epaper

मौसम

NEW DELHI WEATHER