बीएनएम इम्पैक्ट: शिक्षक सह पत्रकार पर कार्रवाई तय, डीईओ पहुंचे रामगढ़वा

पदाधिकारियों की जानकारी में हो रहा था गोरख धंधा, 24 घंटे में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को देना होगा जवाब

बीएनएम इम्पैक्ट: शिक्षक सह पत्रकार पर कार्रवाई तय, डीईओ पहुंचे रामगढ़वा
जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने रामगढ़वा में सोमवार को एक बैठक करते हुए रेयाज़ आलम को लेकर कई सख्त निर्देश प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को दिया साथ ही जिला शिक्षा कार्यालय से इस सम्बन्ध में शनिवार को जारी स्पष्टीकरण का जवाब 24 घंटे के अन्दर माँगा है |

सागर सूरज

मोतिहारी : सरकारी सर्विस नियमों को धता बताते हुए शिक्षण और पत्रकारिता दोनों एक साथ करने के मामले में बॉर्डर न्यूज़ मिरर के खबर पर संज्ञान लेते हुए शिक्षा विभाग ने रामगढ़वा के एक शिक्षक रेयाज़ आलम उर्फ़ लड्डू के विरुद्ध कार्रवाई करने की कवायद शुरू कर दी है |

IMG-20230109-WA0212

 

गत शुक्रवार को बॉर्डर न्यूज़ मिरर में खबर प्रकाशन के दुसरे दिन ही यानि शनिवार को जिला शिक्षा पदाधिकारी ने अपने पत्रांक 46 दिनांक 07 जनवरी, 2023 को रेयाज आलम को लेकर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से पांच बिन्दुओं पर जवाब माँगा है | सवालों में रेयाज़ आलम का प्रथम नियोजन किस नियोजन ईकाई द्वारा और कब किया गया ? प्रथम नियोजन किस विद्यालय में हुई थी और उनकी प्रतिनियुक्ति किस विद्यालय में किसके द्वारा और कब से की गयी है ? क्या रेयाज़ आलम दैनिक समाचार पत्र ‘हिंदुस्तान’ में संवाददाता के रूप में भी कार्य करते है ? क्या वे राजनीतिक गतिविधियों में भी संलिफ्त रहते है ?   

   जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार ने पत्र के माध्यम से बताया है कि प्रथम दृष्टया यह प्रतीत होता है कि रेयाज़ आलम एक शिक्षक रहते हुए पत्रकारिता एवं राजनीतिक गतिविधियों में संलग्न रहे है, साथ ही पत्रकारिता संरक्षण का लाभ भी उठाते रहे है |

 पुष्टि करते हुए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सत्यनारायण साहू ने कहा है कि ये उनकी जानकारी में है कि रेयाज़ आलम शिक्षक के साथ - साथ पत्रकार भी है | सोमवार को ही जिले की चिट्ठी प्राप्त हुई है, जिसका जवाब भेजा जायेगा |

मामले में संज्ञान के बाद शिक्षक सह पत्रकारों के बीच हडकंप मचा हुआ है, वहीँ रामगढ़वा प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी मोहम्मद सज्जाद की एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिससे यह प्रमाणित होता है कि रामगढ़वा प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सहित अनुमंडल के सभी अधिकारियों के संज्ञान में यह बात है कि रेयाज़ नामक व्यक्ति सरकारी शिक्षक होने के साथ –साथ पत्रकारिता का कार्य भी खुलेआम करता है |

रेयाज़ के शिक्षक होने की बात की जानकारी पहले से होने की बात बीईओ तो मानते ही है, साथ ही वायरल वीडियो में प्रखंड विकास पदाधिकारी की बातों से यह स्पष्ट है कि वे भी जानते है कि रेयाज़ पत्रकार भी है और शिक्षक भी | यानि इन पधाधिकारियों के संरक्षण में एक शिक्षक खुलेआम पत्रकारिता का कार्य ही नहीं करता रहा, बल्कि प्रतिनियुक्ति का लाभ लेते हुए स्कूल में पढ़ाई का कार्य छोड़ दिन भर प्रखंड कार्यालय में जमे रहने के आरोप भी शिक्षक पर लगते रहे है | प्रखंड कार्यालय के सीसीटीवी में भी रेयाज़ की स्कूल समय में प्रखंड में उपस्थिति किसी भी दिन देखी जा सकती है |

हुआ यूँ कि 2022 के जून महीने में ग्रामीणों के आवेदन पर प्रखंड विकास पदाधिकारी जब उत्क्रमित मध्य विद्यालय दुबे टोला, रामगढ़वा पहुंचे तो उन्हें मालूम चला इस स्कूल का एक शिक्षक रेयाज़ आलम प्रतिनियुक्ति पर दुसरे स्कूल में है | इन बातों को एक ग्रामीण ने कैमरे में कैद कर लिया |

इधर प्रखंड विकास पदाधिकारी से जब रेयाज़ के बारे में पूछा गया तो वे बैठक में व्यस्त होने कि बात कहते हुए कुछ भी बोलने से इनकार कर दिए |

IMG_20230108_204646

 

सनद रहे कि ‘बॉर्डर न्यूज़ मिरर’ ने अपने अंग्रेजी ‘एडिशन’ में सरकारी शिक्षक सह पत्रकार रेयाज आलम के प्रतिनियुक्ति एवं खुलेआम पत्रकारिता के प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए अवांच्छित गतिविधियों में संलग्न रहने एवं शिक्षक रहते हुए चुनाव में किसी प्रत्याशी का खुलेआम समर्थन जैसे आरोपों की विस्तृत चर्चा करते हुए एक खबर प्रकाशित की थी | खबर में रक्सौल नगर परिषद् अध्यक्ष प्रत्याशी पूर्णिमा भारती का भी जिक्र किया गया था,जिसमें पूर्णिमा भर्ती ने रेयाज़ पर पीत पत्रकारिता का आरोप प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से लगाया |

 

 

  

 

About The Author

Post Comment

Comments

राशिफल

Live Cricket

Recent News

कृषि विभाग के ‘आत्मा’ में हो रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम में करोड़ों के वारा-न्यारा का आरोप कृषि विभाग के ‘आत्मा’ में हो रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम में करोड़ों के वारा-न्यारा का आरोप
नियमानुसार प्रत्येक आवेदकों से 12,500 रकम प्रशिक्षण शुल्क के रूप में ली जाती है, जिसके बदले प्रशिक्षण के दरम्यान आवेदकों...
Chichurahiya regained its lost glory, SP stressed on community policing
बीएनएम इम्पैक्ट : एसपी ने भ्रष्टाचार मामले में अपनी प्रतिबद्धता को किया प्रमाणित, थानाध्यक्ष हुए निलंबित
फर्जी रूप से बहाल इस लेखा पाल को क्यों बचाना चाहते है जिला कृषि पदाधिकारी ?
बीएनएम इम्पैक्ट: डूमरिया घाट थाने के थानाध्यक्ष के विरुद्ध जांच शूरू, विभागीय गाज़ गिरनी तय
‘बीएनएम इम्पैक्ट": खबर का हुआ असर, छतौनी थाने का दरोगा हुआ सस्पेंड
जिला कृषि पदाधिकारी सहित कई अधिकारी निगरानी के “रडार” पर

Epaper

मौसम

NEW DELHI WEATHER