previous arrow
next arrow
Slider
Spread the love
Home National एक बार फिर हिंसा की जद में JNU, नकाबपोश गुंडों का कहर,...

एक बार फिर हिंसा की जद में JNU, नकाबपोश गुंडों का कहर, कई छात्र-छात्राएं लहूलुहान

Spread the love

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) कैंपस में रविवार की शाम को नकाबधारी गुंडों ने कहर बरपाकर रख दिया। हाथों में डंडे, रॉड लेकर घुसे इन बदमाशों ने छात्र-छात्राओं और शिक्षकों पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इस हमले में लगभग 20 स्टूडेंट और शिक्षक घायल हो गए। हालात को संभालने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन को दिल्ली पुलिस की मदद लेनी पड़ी। विश्वविद्यालय प्रशासन के आग्रह पर दिल्ली पुलिस ने कैंपस में प्रवेश किया और देर रात फ्लैगमार्च किया।  जेएनयू परिसर में रविवार की शाम कुछ  बदमाश घुस गए थे। वे हाथ में डंडे और लोहे की रॉड लिए हुए थे। उन्होंने छात्र-छात्राओं और शिक्षकों की बेरहमी से पिटाई कर दी। पिटाई से जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित दो पदाधिकारी घायल हो गए। आइशी की सर पर डंडे से हमला किया गया। हमले के बाद लहूलुहान आइशी की तस्वीरें सोशल मीडिया में छा गईं। उन्हें तुरंत नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। दो घंटे तक यूनिवर्सिटी में अफरा-तफरी का आलम रहा। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक 28 लोग घायल बताए जा रहे हैं। हिंसा को लेकर वामपंथी छात्र संगठनों और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने एक दूसरे पर आरोप लगाया है।  जेएनयू में हिंसा की खबरें मीडिया में आते ही दिल्ली की सियासी गलियारों में हड़कंप मच गया। सूत्रों के मुताबिक शाम 5 बजे साबरमती टी प्वाइंट के पास हिंसा शुरू हुई। जेएनयू प्रशासन ने कहा, “नकाब ओढ़े गुंडे हाथों में डंडे लेकर घुम रहे थे, वे तोड़फोड़ कर रहे थे और लोगों पर हमला कर रहेथे। जेएनयू ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बुलाई गई। जेएनयू के रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने एक बयान जारी कर कहा, “ये पूरी जेएनयू कम्युनिटी के लिए अत्यवाश्यक संदेश है, कैंपस में कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा हो गई है, जेएनयू प्रशासन ने हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को बुलाया है।” विश्वविद्यालय प्रशासन से अनुरोध मिलते ही दिल्ली पुलिस की टीम कैंपस पहुंची और मोर्चा संभाल ली। पुलिस ने कैंपस में फ्लैग मार्च किया और हालात को संभाला। हालांकि दिल्ली पुलिस ने इस बावत अबतक किसी की गिरफ्तारी की बात नहीं कही है। जेएनयू के प्रेवश द्वार को बंद कर दिया गया था और बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई थी। जब पुलिस यूनिवर्सिटी में फ्लैगमार्च कर रही थी तो कुछ लोग दिल्ली पुलिस गो बैकके नारे लगा रही थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

मुज़फ़्फ़रपुर में अपराधी मस्त, लूटपाट के दौरान राहगीर को मारी गोली,गम्भीर हालत

मुज़फ़्फ़रपुर। जिले में अपराधियों का कहर बदस्तूर जारी है। शनिवार की देर रात जिले के बरुराज थाना अंतर्गत मोतीपुर- साहेबगंज रोड में एक राहगीर...

रविवार का राशिफल- 07/03/2021

रविवार का राशिफल युगाब्ध-5122, विक्रम संवत 2077, राष्ट्रीय शक संवत-1942 सूर्योदय 06.15, सूर्यास्त 06.42, ऋतु - बसंत फाल्गुन कृष्ण पक्ष नवमी, रविवार, 07 मार्च 2021 का दिन...

पीएम मोदी की सभा में शामिल होने कोलकाता पहुंचे मिथुन चक्रवर्ती

कोलकाता। कोलकाता के सबसे बड़े ब्रिगेड परेड मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेगा रैली में शामिल होने के लिए बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता...

प्रभारी डीएम ने कौशल रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

मोतिहारी। उप विकास आयुक्त सह प्रभारी जिलाधिकारी कमलेश सिंह ने शनिवार को जीविका की ओर से संचालित दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना को लोगों में...

Recent Comments